Raksha Bandhan 2022 : जानिए क्यों मनाया जाता है  रक्षा बंधन 

क्या आप जानते हैं कि आखिर क्यों या किस कारण से रक्षा - बंधन मनाया जाने लगा और इस दिन का क्या महत्व है|

हिन्दू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार रक्षाबंधन मनाने के  पीछे कुछ कथाएं हैं

आईए जानते हैं

द्रौपदी- श्रीकृष्ण की कथा

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार महाभारत में शिशुपाल के साथ युद्ध के दौरान श्री कृष्ण जी की तर्जनी उंगली कट गई थी.  यह देखते ही द्रोपदी कृष्ण जी के पास दौड़कर पहुंची और अपनी साड़ी से एक टुकड़ा फाड़कर उनकी उंगली पर पट्टी बांध दी.   इस दिन श्रावण पूर्णिमा थी. इसके बदले में कृष्ण जी ने चीर हरण के समय द्रोपदी की रक्षा की थी

रक्षा बंधन  का  महत्व 

White Dotted Arrow
White Frame Corner
White Frame Corner

इन कथाओं के माध्यम से ये पता चलता है कि रक्षाबंधन पर कलाई पर राखी या रक्षासूत्र बांधने जाने के साथ ही उसके बदले में मांगे और दिये जाने वाले वचन का बहुत महत्व होता है. इसलिए इस दिन हर बहन अपने भाई को राखी बांधती हैं और भाई उसकी हिफाजत का वचन देता है.

बहन भाई की कुशलता और सफलता की कामना करती है. ये वचन और भावना ही रक्षाबंधन के त्योहार का सबसे महत्वपूर्ण भाग है. क्योंकि प्रेम और विश्वास का यही बंधन भाई और बहन के रिश्ते के स्नेह की डोर अर्थात् राखी होती है.

रक्षा बंधन की  हार्दिक शुभकामनायें