SIP क्या होता है? क्यों पैसा लगाना चाहिए? कितनी फ़ायदेमंद है?

हमने अक्सर किसी को यह कहते हुए ज़रूर सुना होगा की यार SIP कर ले। क्यों इधर उधर भटक रहा है? SIP सबसे बढ़िया ऑप्शन है इन्वेस्ट करने का।

अब अपने SIP शब्द को पहली बार सुना तो आपके मन जिज्ञासा बढ़ने लगी की यह SIP क्या होता है? इसमें क्यों पैसा लगाना चाहिए? इसमें पैसा लगाना सही में फ़ायदेमंद होता है क्या ?

तो आज मैं आपके इन सभी प्रश्नों का जवाब दे रह हूँ, जिससे आपको थोड़ा बहुत समझ में आ जायेगा की SIP आपके लिए भी बना है या नहीं ?

SIP क्या होता है –  What is SIP in Hindi

S.I.P का पूरा नाम होता है – Systematic Investment Plan

जैसे की आपको नाम से ही मालूम पड़ गया होगा कि यह एक ऐसा प्लान हैं जिसमे आपको एक निश्चित समय पर (महीने में , सप्ताह में , 6 महीने में या साल में ) एक निश्चित अमाउंट/पैसे को (SIP में निवेश राशि कम से कम 500 है)  नियमित रूप से इन्वेस्ट करना या लगाना होता है।

SIP कौन और क्यों करे?

देखिये SIP आज कल सभी लोग करते है। अन्तर सिर्फ उसमे निवेश की जा रही पैसा का होता है। ऐसा इस लिए सभी लोग का आमदनी और ख़र्चा एक जैसा नहीं है। कोई महीने का 50 हज़ार कमाता है तो कोई महीने 10 से 15 हज़ार।

यहाँ पर दो लोगो का वेतन अलग अलग है लेकिन दोनों ही लोग चाहे तो अपने भविष्य के लिए या फिर अपने शार्ट या लॉन्ग टर्म गोल के लिए पैसा लगा सकते है।

अब आते है कि हम SIP क्यों करे?

चलिए एक उदहारण के तौर पर मान लीजिए आपको iPhone का नया वाला स्मार्टफोन खरीदना है जिसका दाम 1 लाख रुपया है। आपके पास दो ही ऑप्शन है – उधर ले या फिर कैश में।

माना की अपने फोन को उधर में ख़रीदा है EMI पर। यानि लोन पर ली है। जब हम लोन ले लेते हैं तो एक नियमित समय पर इसका रिपेमेंट करना पड़ता है। हमको तो लगता है कि लोन के लिए EMI की रकम बहुत कम है,चलो ले लेते है लेकिन लोन के लिए हमें मूल रकम के अलावा ब्याज का भी भुगतान करना होता है। इस के वजह से आपको फोन के लिए ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है।

वही अपने एक सिस्टेमैटिक तरीके से कुछ पैसे को कुछ सालो के लिए जोड़ते तो आपके पास फोन को खरीदने के लिए पैसा जमा हो जाता और आप फोन को कैश में वही कुछ डिस्काउंट के साथ खरीद पाते।

इससे हमे यह समझ में आता है कि SIP की मदद से Short या Long Term के किसी Goal को पा सकते है। बस हमे सही जानकारी के साथ सही जगह पर निवेश करने की जरुरत है।

SIP कैसे काम करता है?

देखिये जब आप SIP में निवेश करते है तब आपका पूँजी बढ़ता है और जब आप FD में निवेश करते है तो रिटर्न मिलता है। दोनों अंतर होता हैं। अगर आपको पूंजी बनानी है तो आपको SIP में निवेश करना चाहिए या रिटर्न कामना है तो बहुत से ऑप्शन मौजूद है।

SIP कैसे काम करता है चलिए जानते है।

मान लीजिए ABCX कंपनी के Mutual Fund में अपने निवेश करने की सोचते है। उस समय उस MF का NAV 20 रुपया था। तब अपने 10,000 रुपया निवेश किये थे। उसके बदले आपको MF के 500 units अलॉट हुए थे।

अब कुछ साल बाद उस Mutual Fund का NAV 30 रुपये हो जाती है तो आपको 500 यूनिट्स की कीमत बढ़कर 15,000 रुपये हो जाएगी।

ठीक इसी तरीके से एक लंबे समय में आप SIP के जरिए बड़ी पूजी तैयार कर सकते हैं। यह तो एक छोटा सा उदाहरण था।

SIP के फायदे – SIP Benefits in Hindi

वैसे SIP के कई सरे फायदे है। जैसे कि

  1. कम पूँजी के साथ SIP शुरू किया जा सकता है।
  2. निवेश करने में आसानी होती है क्यों की बड़ा रकम नहीं देना होता है।
  3. SIP करने का सबसे बड़ा और मुख्य फायदा यह है की इसमें जोखिम काफी कम होता है।
  4. SIP में Compounding का लाभ मिलता है।
  5. इसमें आपका पैसा Safe और Secure रहता है।

SIP में कैसे Invest करें?

SIP में निवेश करने के लिए आप इन स्टेप्स को फॉलो कर सकते है। इसके लिए आप किसी भी प्लेटफार्म या Apps का यूज़ कर सकते है। तो मैं आपको आज Groww App पर SIP कैसे करे यह बताऊंगा।

  1. SIP करने के लिए Groww के साथ आपको Demat Account खुलवाना होगा। इसके लिए आपको KYC को पूरा करना पड़ता है। KYC के लिए पैन कार्ड, एड्रेस प्रुफ, पासपोर्ट साइज फोटो और बैंक डिटेल्स मांगे जाते है।
  2. इसके बाद वेरिफिकेशन होगा और वेरिफिकेशन प्रोसेस पूरा होन के बाद  आपका डीमैट अकाउंट एक्टिव हो जाएगा।
  3. अब अपने पसंद के म्यूचुअल फंड स्कीम में आप Onetime या SIP कर सकते हो।

निष्कर्ष

आपको SIP चुनने से पहले यह देखना चाहिए कि आप किस Goal को पूरा करने के लिए निवेश करना चाहते हैं। जरुरत को समझने के बाद ही किसी भी Mutual Fund को चुने।

इंटरनेट पर आपको यह जानकारी आसानी से मिल जाएगी कि​ पिछले कुछ समय में किस Mutual Fund स्कीम पर कितना रिटर्न मिला है।

आपको यह भी ध्यान रखना है कि आप उन्हीं स्कीम्स को चुनें, जिसका जोखिम उठाने के लिए आपके पास क्षमता हो। अगर आप कम जोखिम उठाना चाहते हैं तो आपको उन्हीं विकल्प को चुनना होगा, जिसमें जोखिम कम है।

यह भी पढ़े – नए लोग निवेश कैसे करे?

FAQs

SIP का Full Form क्या है?

SIP का Full Form है – Systematic Investment Plan

SIP Benefits in Hindi

छोटी राशि को निरंतर रूप से लंबे समय तक निवेश करके एक बड़ी रकम प्राप्त किया जा सकता है। अनुशासन के मामले में भी SIP को अच्छा इन्वेस्टमेंट विकल्प माना जाता है। इसमें आपको कम्पाउंडिंग का लाभ मिलता है। आपका खर्च औसत में बना रहेगा। इसमें जोखिम कम है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.